KEJRIWAAL SPECIAL

KEJRIWAAL SPECIAL

केजरीवाल सड़क पर पडे उस कोल्डड्रिंक के खाली केन की तरह हो गया है

 

जो भले ही आपका कुछ ना बिगाड रहा हो.

 

पर,

 

देखते ही लात मारने का मन करता है…!!!

 

???

……………………………………………………………………………………………………………………..

Z6y  w0y  Y8y  w9x

 

नही समझे..?

?

?

ज़ारा फ़ोन को उल्टा करके पढ़ो..

.

 

 जब सीधी समझ नही आया तो उल्टा कहाँ से आएगा..!

 

बना दिया ना April fool

????

………………………………………………………………………………………………………………………

 अगर आपका बेटा फ़ोन पर hello hello करते हुए आपके कमरे से बहार चला जाये

तो

समझ जाना आपकी होने वाली बहु का फ़ोन आया है । ???

………………………………………………………………………………………………………………………….

 अगर आपकी पत्नी आपका कहना नहीं मानती है तो..

तो..

इतना ध्यान से मत पढ़ो

किसी की नहीं मानती

इसका कोई इलाज नहीं है! ??????

……………………………………………………………………………………………………………………

मॅडम – पप्पू, मैंने तुम्हें थप्पड मारा, इसका भविष्य काल बताओ।

 

पप्पू – मैडम छुट्टी के बाद आपकी ऍक्टिवा पंक्चर मिलेगी।

???????

……………………………………………………………………………………………………………………..

अफ्रीका में काले बाय्फ्रेंड ने… अपनी काली गर्लफ्रेंड को…

काली रात में… काले समंदर के पास… बड़े रोमॅंटिक मूड में

पूछा…!

.

तू बैठी है या…. चली गई…? ? ? ? ? ? ?

………………………………………………………………………………………………………………………….

 अकबर : मुझे इस राज्य से 5 मूर्ख ढूंढ कर दिखाओ.!!

 

बीरबल ने खोज शुरू की.

 

एक महीने बाद वापस आये सिर्फ 2 लोगों के साथ।

 

अकबर ने कहा मैने 5 मूर्ख लाने के लिये कहा था !!

 

बीरबल ने कहां हुजुर लाया हूँ। पेश करने का मौका दिया जाय..

 

आदेश मिल गया।

 

बीरबल ने कहा- हुजुर यह पहला मूर्ख है। मैने इसे बैलगाडी पर बैठ कर भी बैग सर पर ढोते हुए देखा और पूछने पर जवाब मिला के कहीं बैल के उपर ज्यादा लोड

ना हो जाए इसलिये बैग सिर पर ढो रहा हुँ!!

इस हिसाब से यह पहला मूर्ख है!!

 

दूसरा मूर्ख यह आदमी है जो आप के सामने खडा है. मैने देखा इसके घर के ऊपर छत पर घास निकली थी. अपनी भैंस को छत पर ले जाकर घास खिला रहा था. मैने देखा और पूछा तो जवाब मिला कि घास छत पर जम जाती है तो भैंस को ऊपर ले जाकर घास खिला देता हूँ. हुजुर

जो आदमी अपने घर की छत पर जमी घास को काटकर फेंक नहीं सकता और भैंस को उस छत पर ले जाकर घास खिलाता हैतो उससे बडा मूर्ख और कौन हो सकता है!!!

 

तीसरा मूर्ख: बीरबल ने आगे कहा. जहाँपनाह अपने राज्य मे इतना काम है. पूरी नीति मुझे सम्हालना है. फिर भी मै मूर्खों को ढूढने में एक महीना बर्बाद कर रहा हूॅ इसलिये तीसरा मूर्ख मै

ही हूँ.

 

चौथा मूर्ख.. जहाँपनाह. पूरे राज्य की जिम्मेदारी आप के ऊपर है.

दिमाग वालों से ही सारा काम होने वाला है. मूर्खों से कुछ होने वाला नहीं है. फिर भी आप मूर्खों को ढूढ रहे हैं. इस लिये चौथा मूर्ख जहाँपनाह आप हुए।

 

पांचवा मूर्ख…जहाँ पनाह मै बताना चाहता हूँ कि  दुनिया भर के काम धाम को छोड़कर. घर परिवार को छोड़कर. पढाई लिखाई पर ध्यान ना देकर, व्हाट्सएप्प पर पूरा ध्यान लगा कर और पाँचवें मूर्ख को जानने के लिए अब भी पोस्ट पढ़ रहा है वही पाँचवा मूर्ख है

 

इससे बडा मुर्ख दुनिया में कोई नहीं

अब क्या सोच रहे हो ?

 

 

 

 latest hai…

आगे भेजो और मुर्ख

इन्तजार कर रहे होंगे !!!!!!!!!

????????

……………………………………………………………………………………………………….

एक असफल प्रेमी का प्रेम पत्र:

 

जानू,

?

अगर मुझे तुम्हारा प्यार ? न मिला तो मैं कांग्रेस ?जॉइन कर धीरे-धीरे खुद को खत्म कर लूंगा।☠☠

……………………………………………………………………………………………………………………

 घर वाले मुझे सुबह-सुबह ऐसे उठाते है,

 

जैसे –

तीसरा विश्वयुद्ध शुरु हो गया है और

मैं ही आखरी सैनिक बचा हूँ!!

 

???

……………………………………………………………………………………………………………………

अकबर : मुझे इस राज्य से 5 मूर्ख ढूंढ कर दिखाओ.!!

 

बीरबल ने खोज शुरू की.

 

 

एक महीने बाद वापस आये सिर्फ 2 लोगों के साथ।

 

अकबर ने कहा मैने 5 मूर्ख लाने के लिये कहा था !!

 

बीरबल ने कहां हुजुर लाया हूँ। पेश करने का मौका दिया जाय..

 

आदेश मिल गया।

 

बीरबल ने कहा- हुजुर यह पहला मूर्ख है। मैने इसे बैलगाडी पर बैठ कर भी बैग सर पर ढोते हुए देखा और पूछने पर जवाब मिला के कहीं बैल के उपर ज्यादा लोड

ना हो जाए इसलिये बैग सिर पर ढो रहा हुँ!!

इस हिसाब से यह पहला मूर्ख है!!

 

दूसरा मूर्ख यह आदमी है जो आप के सामने खडा है. मैने देखा इसके घर के ऊपर छत पर घास निकली थी. अपनी भैंस को छत पर ले जाकर घास खिला रहा था. मैने देखा और पूछा तो जवाब मिला कि घास छत पर जम जाती है तो भैंस को ऊपर ले जाकर घास खिला देता हूँ. हुजुर

जो आदमी अपने घर की छत पर जमी घास को काटकर फेंक नहीं सकता और भैंस को उस छत पर ले जाकर घास खिलाता है,  तो उससे बडा मूर्ख और कौन हो सकता है!!!

 

तीसरा मूर्ख: बीरबल ने आगे कहा. जहाँपनाह अपने राज्य मे इतना काम है. पूरी नीति मुझे सम्हालना है. फिर भी मै मूर्खों को ढूढने में एक महीना बर्बाद कर रहा हूॅ इसलिये तीसरा मूर्ख मै

ही हूँ.

 

चौथा मूर्ख.. जहाँपनाह. पूरे राज्य की जिम्मेदारी आप के ऊपर है.

दिमाग वालों से ही सारा काम होने वाला है. मूर्खों से कुछ होने वाला नहीं है. फिर भी आप मूर्खों को ढूढ रहे हैं. इस लिये चौथा मूर्ख जहाँपनाह आप हुए।

 

पांचवा मूर्ख…जहाँ पनाह मै बताना चाहता हूँ कि  दुनिया भर के काम धाम को छोड़कर. घर परिवार को छोड़कर. पढाई लिखाई पर ध्यान ना देकर, व्हाट्सएप्प पर पूरा ध्यान लगा कर और पाँचवें मूर्ख को जानने के लिए अब भी पोस्ट पढ़ रहा है वही पाँचवा मूर्ख है

 

इससे बडा मुर्ख दुनिया में कोई नहीं

अब क्या सोच रहे हो ?

 

 

 

 latest hai…

आगे भेजो और मुर्ख

इन्तजार कर रहे होंगे !!!!!!!!!

????????

……………………………………………………………………………………………………………………

???????

Songs Lyrics in Hindi And English

News Reporter
error: Content is protected !!